Pyar ki bate....

Pyar karen

pyar karen


Pyar kare yaa na kare
Ham tere dil me rahe
Sun aajaa jara paas
Hamesha khusi se haste rahe

Love u


रब किसी को किसी पर फ़िदा ना करे 
करे तो कयामत तक जुदा ना करे 
ये माना की कोई मरता नहीं जुदाई में 
लेकिन जी भी नहीं पाता तन्हाई में 

तुम एक बार मुझसे मुझ; जैसी मोहब्बत करके तो देखों यार
प्यार उम्मीद से कम हो तो सजा-ए-मौत दे देना


जिस्म तो बहुत संवार चुके रूह का सिंगार कीजिये
फूल शाख से न तोड़िए खुशबुओं से प्यार कीजिये.

बरसो के बाद होती है मुलाकात..
फिर भी रहती है दिल में दिल की बात,
नज़रो से करना पड़ता है प्यार
पर नज़र मिलाने के लिये भी करना पड़ता है इंतज़ार
Previous
Next Post »